रविवार, जनवरी 29, 2012

प्रीत : पांच चित्र

[*]प्रीत :कुछ चित्र  [*]


1.
झुकी
पलकें तुम्हारी
मुंद गई आंखें
उठी प्रीत
फैल गई !
2.
भाग कर
भीतर गई
लजा कर तुम
बाहर आई प्रीत
बेखोफ हो कर !


3.
मेरा नाम
रेत पर
उकेरा तुम ने
हवा आई
छू कर उसे
मुझ तक
प्रीत का
उठा गुब्बार !


4.
हवा ने
कहा कुछ
सपर्श में
प्रीत के पान
हुए पल्लवित
ठूंठ खिल उठा
हो गया हरा
जंगल महक गया !


5.
न सड़क चली
न तुम
दौड़ा मन वाहन
आया पड़ाव
'प्रीत'

12 टिप्‍पणियां:

  1. पांचो क्षणिकाएं एक से बढ़ कर एक...बेजोड़...बधाई

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्षणिकाएं पढ़ कर मन प्रफुल्लित हो गया ........
    हया से खिल उठा चेहरा .......मद से भर गया यौवन .....
    लज्जा ने चमकाये नयना ......स्पर्श से महक गया तन ........पूनम माटिया

    उत्तर देंहटाएं
  3. pranam !
    '' koi saansaarik bandhan nahi phir bhi bandhe hai hum antas se haa yehi to preet hai '' aap ki nazar sir jee ye panktiyaa .
    sunder rachnaon ke liye badhai sadhuwad.
    sadar

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रीत के रंग बहुत अच्छे उकेरे हैं आपने ...बहुत सुन्दर ..

    उत्तर देंहटाएं
  5. आकाशवाणी सूरतगढ़ (कॉटन सिटी चैनल) आज आपकी सेवा करते हुए ३१ वर्ष का हो गया है .इस केंद्र व इस जिले (श्री गंगानगर ) का प्रथम उद्ध्घोषक होने के नाते मेरी सेवायों को सभी सुनने वालों का भरपूर प्यार मिला है और मिल रहा है .इस अवसर पर आप सभी को मेरी तरफ से हार्दिक बधाई,धन्यवाद् .शुभकामनाएं .आशा करता हूँ आपका प्यार इसी तरह से मुझे व चैनल को मिलता रहेगा
    Dr.JOGA SINGH KAIT "JOGI"
    M.D.ACUPRESSUR
    NATUROPATH
    SR.ANNOUCER
    ALL INDIA RADIO,
    SURATGARH
    http://drjogasinghkait.blogspot.com
    ईमेल-kait_jogi@yahoo.co.in
    dr.kait.jogi@gmail.com
    DRKAIT@HOTMAIL.COM
    cell no.09414989423

    उत्तर देंहटाएं
  6. ram ram sa,aaj pahli baar apke blog par aai aur man khush ho gaya ......meri mitti ki saundhi khusbu jo hai yaha
    ghano ghano dhanywaadsa

    उत्तर देंहटाएं
  7. सभी क्षणिकाएँ बेहद सुन्दर मगर इस क्षणिका ने बहुत प्रभावित किया -
    "न सड़क चली
    न तुम
    दौड़ा मन वाहन
    आया पड़ाव
    'प्रीत'"

    उत्तर देंहटाएं
  8. प्रीत का जब आभास हो गया
    हर एक पल मधुमास हो गया
    हर्षित मन अंबर को चूमे
    द्रस्टी मिलन इतिहास हो गया..

    उत्तर देंहटाएं